राम मंदिर पर यूपी में सियासत शुरु

| बड़ी ख़बरे
ram-mandir

लखनऊ न्यूज 30 ब्यूरो- आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत जहां राम मंदिर बनाने की बात कर चर्चा को नये सिरे से हवा दे दी है वहीं उत्तर प्रदेश के सहायक महाधिवक्ता एवं बाबरी मस्जिद एक्शन कमेंटी के संयोजक एडवोकेट जफरयाब जिलानी ने ६ दिसंबर को जिलाधीकारियों के माध्यम से प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को ज्ञापन देकर अयोध्या में पुनः बाबरी मस्जिद के निर्माण की मांग करने का आहवाहन किया है। जिसका हिंदूवादी संगठनो और अधिवक्ताओं ने विरोध किया है। लोकायुक्त आर एन मेहरोत्रा ने कहा कि जिलानी संवैधानिक पद पर नहीं हैं ।वह एक सरकार द्वारा नियुक्त किये गए हैं इसलिए जिलानी जो भी बोल रहे हैं ये सरकार की मंशा मानी जाएगी। एडवोकेट हरिशंकर जैन ने कहा कि जो व्यक्ति शासकीय सहायक महाधिवक्ता या सरकारी वकील हो उसे राजनैतिक रूप से तटस्थ रहना चाहिए, वो किसी का पक्ष नहीं ले सकता। बाबरी मस्जिद एक्शन कमेंटी एक सांप्रदायिक संस्था है जो संप्रदाय विशेष के लिए है। सरकारी वकील संप्रदाय विशेष के कार्यों को हिस्सा नहीं ले सकता।सरकार को जफरयाब जिलानी को इस पद पर नियुक्त ही नहीं करना था। सरकार द्वारा उन्हें इस पद पर नियुक्त करना ये प्रदर्शित करता है कि वर्तमान सरकार मुसलमानों का पक्ष ले रही है ,वो मुस्लिम सम्प्रदाय की राजनीति कर रही है।इस सन्दर्भ में जिलानी ने कहा कि चूँकि ये हमारे संवैधानिक अधिकार हैं इस लिए शांतिपूर्ण तरीके से ज्ञापन -धरना दिया जा सकता है। धरने पर तो मुख्यमंत्री,मंत्री भी बैठ चुके हैं। बस १४५ तोड़ने की इजाजत नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }