लखनऊ में नहाने खाने के बाद छठ का महापर्व शुरु

| ख़बरें अब तक
chhath-puja-2015-pics-images-wallpaper-for-free-download

लखनऊ न्यूज 30 ब्यूरो-लखनऊ के लोगों का गोमती नदी के किनारे छठ का महा पर्व शुरु हो गया। चार दिनों की डाला छठ पर्व की शुरुआत आज के नहाने खाने के बाद शुरु हो गया। आज छठ की शुरुआत करने से पहले महिलाओं ने रोटी,चने की दालऔर लोकी की सब्जी खाने के बाद आज से महिलाओ ने बिस्तर का भी त्याग कर दिया।  मान्यता के अनुसार जब तक छठ पूजा खतम नहीं हो जाता है तब तक महिलाए चटाई या लकड़ी के तख्ते पर ही सोएगीं।रात को महिलाए साठि के चावल गुड़ और गाय के दूध की खीर खाने के बाद दो दिनों की लंबी निर्जला वर्त की शुरुआत करेगी। छठ पर्व की महता लोकगीतों में भी  एक अलग मुकाम रखती है।छठ का पहला अघ्र्य डूबते सूर्य को मंगलवार को दिया जाएगा। मंगलवार को  महिलाए घाटो पर निर्जला वर्त रख कर पुत्र प्राप्ति और पति की दीर्घायु के लिए डूबते सुरज को कमरभर पानी में खड़ा होकर अर्घ्य देकर छठ मइया से मंगल कामना की पार्थना करेगी।शाम को अस्ताचल सूर्य को अर्घ्य देने का बाद चौथे दिन आधी रात से ही सभी लोग पूजन सामग्री लेकर  दुबारा नदी किनारे लोग पहुंचने लगते है। नदी किनारे नदी से निकाली गयी मिट्टी से बने चबुतरे पर पूजा सामग्री रख कर पूजा की जाती है। वर्त रखने वाली महिलाएं पूरब की ओर मुह रखकर जल में खड़ी हो जाती है। जैसे ही सूर्य की लालिमा दिखायी देती है व्रती महिलाए उगते हुए सूर्य को दूसरा अर्घ्य देती है। और बाद ही छठ पूजा खत्म होने लगता है । और इसके बाद पहले व्रत रखने वाली महिलाए छठ का प्रसाद खा कर अपने व्रत का पारन करती है।और इस परना के नाम से जाना जाता है।और इसी के साथ सूर्य देवता का महापर्व समाप्त हो जाताहै।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }