आध्यात्मिक आश्रम- खुद को कृष्ण कहता था बाबा, हर दिन 10 रेप, आश्रम में ऐसे थे हाल…

| ख़बरें अब तक बड़ी ख़बरे राज्य
rohini adhyatmik vishwavidyalaya ashram baba virendra dev dixit

दिल्ली में एक और राम रहीम का खुलासा हुआ है । आस्था और भक्ति के नाम पर लड़कियों का शोषण करने वाले बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के बारे में कई बड़े खुलासे हो रहें हैं । रोहिणी में बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के आध्यात्मिक विश्वविद्याल में पड़े छापे के बाद कई चौंकाने वाली जानकारियां सामने आ रही हैं। आश्रम में एक अलग ही दुनिया चल रही थी, जहां लड़कियों को बंधक की तरह रखा गया था, किसी को बाहर जाने की इजाजत नहीं थी।

बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित का फिलहाल कोई अता-पता नहीं है, लेकिन उसकी हरकतों अब बेपर्दा हो रही हैं। आश्रम में बाबा का शिकार बनी एक बच्ची के मुताबिक बाबा बच्ची को गलत तरीके से छूता था। बाबा कहता था कि मैं भगवान कृष्ण हूं। जैसे उनके कई रानियां थीं, तुम मेरी रानी बन जाओ। पीड़िताओं के अनुसार बाबा हमेशा महिला शिष्यों के बीच ही रहना पसंद करता था । वह गोपियां बनाने के लिए लड़कियों को संबंध बनाने के लिए आकर्षित करता था ।




हाईकोर्ट में बाबा वीरेंद्र के खिलाफ अर्जी लगाने वाली सीमा शर्मा का आरोप है कि बाबा ड्रग्स लेकर रोज 10 लड़कियों के साथ रेप करता था । उसे न्यूड लड़कियों से मालिश कराने का शौक था । वहीं ढोंगी बाबा के खिलाफ याचिका दायर करने वाली राजस्थान की महिला उसके आश्रम में अनुयायी बनकर रह चुकी है। उसने अपनी चारों बेटियों को बाबा की भक्ति में उसके आश्रम में ही छोड़ा था, जिसमें एक नाबालिग है । इस बच्ची ने अपनी मां को बताया कि बाबा ने उसके साथ भी रेप किया अब महिला और उसके पति ने बाबा पर रेप का केस दर्ज कराया है।

गौरतलब है कि रोहिणी में बाबा वीरेंद्र के आध्यात्मिक विश्वविद्यालय में गुरुवार को हाईकोर्ट की ओर से नियुक्त टीम ने 9 घंटे रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया था। इस दौरान 41 लड़कियों को वहां से मुक्त कराया गया ।लोगों ने आरोप लगाया है कि बाबा यहां बंधक बना कर रखी गईं कम उम्र लड़कियों को दुष्कर्म और यौन उत्पीड़न का शिकार बनाता रहा है । रेस्क्यू टीम को 1200 गज में फैले आश्रम के अंदर बने 22 कमरों में से 13 कमरों में लड़कियां बंद मिलीं जिन्हें ताले तोड़कर बाहर निकाला गया ।




दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति जयहिंद ने बताया कि महिलाओं को यहां नशे के दवा दी जाती थीं। चार मंजिला आश्रम के अंदर बोर्ड पर लिखा था, ‘आपसे कोई पूछे कैसे हो तो बताना-ठीक हैं और खुश हैं, रात में लड़कियां यहां से आती-जाती हैं और यहां देह व्यापार चलता है। उम्र होने के बाद महिलाओं को बाहर निकाल दिया जाता है । वहीं पुलिस के अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि आश्रम में महिलाओं का शारीरिक व मानसिक शोषण होता था। कमरे से कई प्रतिबंधित दवाइयां व आपत्तिजनक सामान बरामद किए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }