आतंकवाद पर यूपी के धर्म गुरुओं की सोच,एकता से ही होगा खात्मा

| ख़बरें अब तक
GroupMeditationBG

लखनऊ न्यूज 30 ब्यूरो– पेरिस में हुए आईएसआईएस के आतंकी नरसंहार ने न सिर्फ पश्चिमी राष्ट्रों को अपितु विश्व जगत के धर्मावलम्बियों और राजनेताओं को आतंकवाद के विरुद्ध अपनाये जा रहे उनके दावों पर सवालिया निशान खडे कर दिए | 26/11 के मुम्बई हमलों के बाद पेरिस में आंतकवादियों ने निर्दोष मासूमो को मार कर मौत का तांडव किया | आतंकी संगठन तू डाल-डाल मैं पात-पात की नीति पर बेख़ौफ़ होकर चल रहे हैं | इस बर्बरतापूर्ण नरसंहार से सबक लेते हुए अन्तर्राष्ट्रीय जगत के नेताओं का कहना है कि निजी हितों को भुलाकर आतंकी संगठनो की सिंचाई करने वालो की मदद बंद करनी चाहिए | आतंकवाद सेे विकासशील राष्ट्र के साथ साथ ताकतवर विकसित राष्ट्र भी अब अछूता नहीं है | निस्वार्थ वैश्विक सहयोग और एकता से ही आतंकवाद का खात्मा हो सकता है |

नैतिक शिक्षा के अभाव से ही आतंकवाद को बढ़ावा मिला है | नेताओं और धर्मगुरुओं के उल – जुलूल बयान आतंकियों को और अधिक उकसाते है |  – महंत देव्या गिरी (मनकामेश्वर मंदिर, लखनऊ)

आतंकवाद को किसी मजहब से जोड़कर नहीं देखना चाहिए | यह इस्लामियत पर हमला है | विश्व के सभी मुश्लिम राष्ट्रों के नेता एक साथ बैठ कर इस समस्या का समाधान निकाले | अशिक्षा को दूर कर नैतिक शिक्षा पर बल दिया जाना चाहिए | – इमाम मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली (सुन्नी धर्मगुरु , लखनऊ)

कोई भी धर्म किसी को मारने की इजाज़त नहीं दे सकता | ईश्वर ने हमे बनाया है और कोई भी व्यक्ति किसी को क्षति नहीं पहुंचा सकता | यह मानवता नहीं है यह धर्म और ईश्वर का अपमान है पादरी साइमन (होली रिडीमर चर्च , लखनऊ)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }