मुल्क में हावी मौलवियों पर कड़ी कार्रवाही करें मोदी-मौलाना कल्बे जव्वाद

| ख़बरें अब तक
Kalbe_Jawad_said_the_site_was_meant_only_for_religious_p-a-11_1433712803483

लखनऊ न्यूज 30 ब्यूरो- आतंकवादी संगठनो ने अपने नापाक मंसूबों के जरिये न सिर्फ एशिया महाद्वीप बल्कि विकसित यूरोप तक अपनी जड़े मजबूत कर ली है । आईएसआईएस हो या फिर अलकायदा इन सभी आतंकवादी संगठनो के सिर्फ नामो में फर्क है कामो में नहीं। लखनऊ के शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद नकवी का कहना है कि मुस्लिमो में तालीम की कमी है और दीनी शिक्षा के अतिरिक्त तकनीकी शिक्षा को भी प्राथमिकता से तवज्जो देनी चाहिये । उनका कहना है क़ि कोई भी धर्म मानवता से परे नहीं है । आईएस जैसे संगठन इस्लामिक नहीं हो सकते ये सिर्फ इस्लाम शब्द को नापाक करते है । राजनीतिक महत्वाकांक्षा के चलते जी 20 देश या अन्य देश आतंकवादी संगठनो को आर्थिक रूप से सहायता करते है ।  ये देश पहले आतंकवाद का बीज बोते है और फिर जब आतंकवाद की जड़े मजबूती से फैलने लगती है तो शोर मचाते है । अमेरिका दुनिया का सबसे बड़ा खलीफा राष्ट्र है । ओसामा बिन लादेन को बनाने वाला अमेरिका ही था और जब उनकी चाल उल्टी पड़ गयी तो अब वो बोलते है कि हमने ओसामा बिन लादेन को मारा । अमेरिका जैसे देश चाहते है कि मुसलमान मुल्को में आपस में टकराव रहे कहीं पर भी अमन चैन न रहे । ये मुसलमानो को आपस में लड़ाते है और पूरी तरह आतंकवाद को बढ़ावा देते है । आज इन संगठनो के पास अत्याधुनिक शस्त्र है ये सब इजराइल , यूरोप और अमेरिका जैसे देश ही इन्हें उपलब्ध कराते है । ये देश आतंकवाद को समर्थन देते है । भारत कुछ नहीं कर पा रहा क्योंकि भारत खुद इन मुल्को के अधीन है । पहले ये देश चाहते थे की मुसलमान आपस में भिड़े लेकिन अब जब ये दहशतगर्द लोग अनियंत्रित हो गए है तो ये  देश दहशत का रोना रो रहे है । 124 भारतीयो के आईएस में शामिल होने पर कल्बे जव्वाद का कहना है कि यहाँ के कुछ मौलवियों ने आईएस के समर्थन में बयान दिए जब ईराक में दहशतगर्दी का माहौल था तब यहीं के कुछ मौलवियो का कहना था की साहब वो आजादी की लड़ाई लड़ रहे है । कल्बे जव्वाद ने नाम लिए बगैर कहा कि लखनऊ के ही एक मौलाना ने एक नक्शा दिया जिसमे पूरी दुनिया के साथ साथ भारत में भी आईएस के झंडे बने थे और  उन पर आज तक कोई कार्रवाही नहीं हुई । सऊदी अरब पूरी तरह से आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है । वहां के मौलवी हमारे मुल्क के सरकारी मेहमान बन  कर आते है । भारत सरकार और यूपी सरकार खुद आतंकवाद को बढावा दे रही है । सभी हावी मौलवी दिल से अंदर ही अंदर आतंकवादियो के साथ है । ईराक , सीरिया में जब ये दहशतगर्द एक दूसरे का खून बहा रहे थे तो यहाँ के मौलवियों ने कोई फ़तवा नहीं दिया और अब जब इन हावी मौलवियों के गिरेबान पर बात बन आई तो यूरोप हमलो पर झूठा ढकोसला कर फतवे जारी कर रहे है । पीएम मोदी पहले इन मौलवियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाही करे फिर आतंकवाद से लड़े । असहिष्णुता और असहनशीलता के मुद्दे पर कल्बे जव्वाद का कहना है कि हालात तो कई दशको से खराब है पर हमें मिलकर लड़ाई लड़ने की जरूरत है । उटपटांग बयानबाजी से परिस्तिथियाँ और अधिक खराब हो जाती है । आज इतने भी ज्यादा बुरे हालात नहीं है कि कोई मुल्क छोड़ दे । मुल्क से सबको मोहब्बत है और हमें सच्चे राष्ट्र प्रेमी होने का परिचय देना चाहिए । आजम ख़ां और प्रवीण तोगड़िया पर बोलते हुए कल्बे जव्वाद कहते है कि इन लोगों की अमर्यादित बयानबाजी इनकी पाकिस्तानी सोच को दिखाती है अगर इन्हें मुल्क से इतनी ही ज्यादा दिक्कत है तो ये खुद ही देश छोड़ दे तब शायद देश में अमन शान्ति बनीं रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }