शादी के दिन टीचर कपल को इस वजह से स्कूल ने किया बर्खास्त

| ख़बरें अब तक खास खबरे राज्य
teacher couple fired from school on their weeding day

कश्मीर में दो प्यार करने वालों को अपनी शादी के ही अपने प्यार की बड़ी कीमत चुकानी पड़ी । पहलगाम जिले के एक निजी स्कूल में पढ़ाने वाले कपल को स्कूल प्रबंधन ने उनकी शादी के दिन नौकरी से बर्खास्त कर दिया। स्कूल मैनेजमेंट का कहना था, “उनके रोमांस से स्टूडेंट्स पर बहुत बुरा असर पड़ सकता था। वहीं इस कपल का कहना है उन्होंने कोई पाप या गुनाह नहीं किया है।

पुलवामा के त्राल टाउन के रहने वाले तारिक भट्ट और सौम्या बशीर वहां के पंपोर मुस्लिम एजुकेशनल इंस्टिट्यूट में पिछले कई सालों से कार्यरत थे। ये दोनों बाल और बालिका यूनिट में कई सालों से काम कर रहे थे। तारिक और सौम्या का दावा है कि उन्हें 30 नवंबर को उनकी शादी के दिन स्कूल ने बर्खास्त कर दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि स्कूल प्रबंधन ने उनकी सेवा को मनमाने तरीके से समाप्त कर दिया।




स्कूल के प्रधानाचार्य ने उनकी बर्खास्तगी पर टिप्पणी के लिए किए गए फोन कॉल्स का जवाब नहीं दिया, जबकि स्कूल के अध्यक्ष बशीर मसूदी ने कहा कि दोनों को सेवा से मुक्त कर दिया गया क्योंकि दोनों शादी से पहले से ही रिलेशनशिप में थे। मसूदी ने कहा, ‘वे रोमांस कर रहे थे और यह स्कूल के 2000 विद्यार्थियों और वहां काम करने वाले स्टाफ के 200 सदस्यों के लिए अच्छा नहीं है। यह विद्यार्थियों पर विपरीत असर डाल सकता है।

वहीं दंपती ने आरोप लगाया कि स्कूल प्रबंधन उनकी छवि खराब कर रहा है। तारीक भट्ट ने कहा कहा, ‘हमारी अरेंज मैरेज थी। कुछ महीने पहले हमारी मंगनी हुई थी और पूरा स्कूल प्रबंधन जानता है कि सौम्या ने स्कूल स्टाफ के लिए पार्टी का भी आयोजन किया था। उन्होंने स्कूल प्रबंधन के रोमांटिक रिलेशनशिप के दावे पर सवाल करते हुए पूछा कि अगर यह मामला था तो उन्हें पक्ष रखने का मौका क्यों नहीं दिया गया।



प्रेमी जोड़े ने स्कूल द्वारा सफाई नहीं मांगे जाने पर सवाल उठाए। भट्ट ने कहा, ‘हमने शादी के लिए स्कूल प्रशासन से छुट्टी मांगी और स्कूल ने छुट्टी दी। अगर ये लव मैरिज है तो क्या उन्हें शादी के घोषणा के बाद ही इसका पता चला था?’ जोड़े ने आरोप लगाया कि स्कूल प्रशासन द्वारा उन दोनों की छवि को धूमिल करने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा हमने सही तरीके से शादी की है और हम कोई पाप के भागी नहीं है क्योंकि हमने कोई अपराध नहीं किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }