लखनऊ में दो सगी बहनों की हत्या

| ख़बरें अब तक
mm

लखनऊ न्यूज 30 ब्यूरो-पंचायत चुनावों के बीच राजधानी में ताबड़तोड़ वारदातोंं का सिलसिला लगातार जारी है। इसी कड़ी में नकाबपोश बदमाशों ने बंथरा के रतौली गांव में एक किराना दुकानदार के घर दावा बोलकर उसकी पत्नी को बंधक बना लिया। इसके बाद बदमाशों ने पहली मंजिल पर सो रही 25 व 18 वर्षीय दो बेटियों की गला रेतकर हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश आराम से फरार हो गए। दोहरे हत्याकांड की सूचना मिलते ही एसएसपी राजेश पाण्डेय और एएसपी क्राइम ज्ञानप्रकाश चतुर्वेदी डॉग स्क्वायड और फिंगर प्रिंट दस्ते के साथ मौके पर पहुंच गए। शुरुआती पड़ताल में किसी करीबी द्वारा वारदात को अंजाम देने की बात सामने आ रही है।
एसएसपी राजेश पाण्डेय ने बताया कि खटोला गांव निवासी किसान रामखेलावन कई वर्षों से गांव के बाहर बिजनौर रोड पर रतौली गांव में मकान व दुकान बनाकर रहते हैं। उनके साथ पत्नी ऊषा, विकलांग बेटा संतोष, बहू, विवाहित बेटी रेखा 25 वर्ष व छोटी बेटी सविता 18 वर्ष रहती थी। मकान के निचले हिस्से में दो किराएदार भी रहते हैं। रामखेलावन ने बताया कि उनकी पत्नी ऊषा और दोनों बेटियां रेखा व सविता पहली मंजिल पर बने दो कमरों में सो रही थी, जबकि अन्य लोग व किराएदार नीचे सो रहे थे। नकाबपोश बदमाश दीवार फांदकर पहली मंजिल पर बने कमरे में पहुंच गए। खटपट की आवाज सुनकर ऊषा व रेखा की नींद खुल गई। ऊषा ने शोर मचाने की कोशिश की तो एक बदमाश ने उनकी गर्दन पर चाकू रख दिया, जबकि अन्य दोनों बदमाशों ने चाकू से रेखा का गला रेत दिया। इसके बाद बदमाशों ने दूसरे कमरे में सो रही छोटी बेटी सविता की ाी हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद तीनों बदमाश जीने का दरवाजा बाहर से बंद करके फरार हो गए। बदमाशों के जाने के बाद ऊषा ने परिजनों व आसपास के लोगों को घटना की सूचना दी। घटना के करीब एक घंटे बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों बहनों को अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। मौके पर पहुंचा डॉग स्क्वायड घर के आसपास चक्कर लगाकर लौट आया। मकान के पिछले हिस्से से पुलिस को खून से सना एक चाकू मिला है।किराना दुकानदार रामखेलावन ने बताया कि बड़ी बेटी रेखा का विवाह उन्होंने एक साल पूर्व मोहनलालगंज के मोहनलालखेड़ा में रहने वाले छोटेलाल के साथ की थी। कुछ समय पहले ही रेखा मायके आई थी। वहीं छोटी बेटी सविता एपी सेन डिग्री कालेज में बीए की छात्रा बताई जा रही है।मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों युवतियों के मोबाइल फोन कब्जे में ले लिए थे। पड़ताल के दौरान पुलिस के हाथ कई अहम सुराग लगे हैं। एएसपी पूर्वी शिवराम यादव ने बताया कि हत्यारों के बारे में अहम सुराग हाथ लगे हैं, जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।मां ऊषा ने बताया कि  कमरे में पहुंचते ही बदमाशों ने उन्हें बंधक बना लिया और बड़ी बेटी रेखा को गालियां देते हुए बिस्तर से घसीटकर दीवार के पास ले गए। वहीं पर चाकू से उसका गला रेत दिया। इसके बाद अंदर के कमरे में सो रही छोटी बेटी सविता का बिस्तर पर ही गला रेत दिया। ऊषा की मानें तो उन्होंने बेटियों को छोडऩे की काफी मिन्नतें की लेकिन हत्यारों पर इसका कोई फर्क नहीं पड़ा।पुलिस का कहना है कि मकान की भौगोलिक स्थिति देखकर यह तो साफ है कि बदमाश दीवार फांदकर घर में दाखिल नहीं हुए हैं। वहीं किराना व्यवसाई के विकलांग बेटे संतोष ने रात में खटपट की आवाज होने की बात बताई है। इससे यह  साफ हो गया है कि बदमाश मु य दरवाजे से ही घर में दाखिल हुए हैं। बड़ा सवाल यह है कि बदमाशों के लिए आखिर दरवाजा किसने खोला।किराना व्यापारी के घर के ठीक सामने स्थित क्लासिक सिटी के आफिस के पास एक जोड़ी चप्पल और कार के टायरों के निशान मिले है। पुलिस ने चप्पल कब्जे में ले लिए हैं। माना जा रहा है कि बदमाश कार से आए थे। वारदात को अंजाम देने के बाद भागने की जल्दबाजी में चप्पल मौके पर ही छूट गए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }