लखनऊ-राजाबाजार में युवक की हत्या के बाद आगजनी

| ख़बरें अब तक
murder211

लखनऊ न्यूज 30 ब्यूरो– राजाबाजार में आसिफ (25) की हत्या के बाद आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर जमकर बवाल हुआ। गिरफ्तारी की मांग कर रहे लोगों ने शव रखकर प्रदर्शन किया। आक्रोशित भीड़ ने आरोपियों के घर पथराव शुरू कर दिया और उनकी दुकान में तोडफोड़ कर आग लगा दी। मौके पर मौजूद पुलिस और पीएसी ने किसी तरह स्थिति पर नियंत्रण किया। मौके पर पहुंचे जिलाधिकारी राजशेखर और एसएसपी राजेश पाण्डेय ने आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया, जिसके बाद प्रदर्शन बंद हुआ। पुलिस का कहना है कि एक नामजद व्यक्ति को हिरासत मे लिया गया है, जबकि अन्य की तलाश की जा रही है।आसिफ की हत्या के बाद राजाबाजार में तनाव की स्थिति बन गई थी। इसको देखते ही देर रात पूरे इलाके को छावनी में बदल दिया गया था। मृतक आसिफ के परिजनों ने सैकड़ों लोगों के साथ सड़क पर उतर आए। परिजनों ने आसिफ के शव को सड़क पर रखकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। परिजनों की मांग थी कि आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की जाये। भीड़ बढ़ते ही लोगों ने हगांमा शुरू कर दिया। देखते ही देखते प्रदर्शनकारियों ने आरोपी के घर पर पथराव शुरू कर दिया और उसकी दुकान में आग लगा दी। मामला बिगड़ता देख आलाधिकारी मौके पर पहुंचे और हल्का बल प्रयोग कर पहले तो भीड़ को काबू में किया। बाद में उन्हें कार्रवाई का आश्वाशन देकर शांत कराया। पुलिस का कहना है कि हत्या में नामजद हनुमान को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं पुलिस ने मृतक के पिता मोहम्मद आरिफ की तहरीर पर वेद त्रिवेदी, कीर्ति त्रिवेदी, आनन्द, पड़ोसी दुकानदार हनुमान और आशुतोष के खिलाफ तहरीर दी है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्जकर फरार आरोपियों की तलाश कर रही है। इसके अलावा पुलिस ने पाटा नाल निवासी मोहम्मद अरशद की तहरीर पर वेद त्रिवेदी, कीर्ति, आनन्द, हनुमान प्रसाद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। इनका आरोप है कि बीच बचाव करने पर आरोपियों ने इनकी भी पिटाई कर दी। विरोध पर इनके ऊपर फायरिंग कर दी, जिसमें इनके हाथ में छर्रे लगे हैं।राजाबाजार सुबतिया बाग निवासी आसिफ (25) अपने भाई आमिर के साथ घर के पास ही स्थित त्रिवेदी मिष्ठान भंडार से दूध लेने गया था। जहां किसी बात पर उसका दुकान मालिक वेद प्रकाश से विवाद हो गया। आरोप था कि वेद ने अपने भाई कीर्ति के साथ मिलकर आसिफ को पीट दिया। आसिफ को पिटता देख उसका ममेरा भाई आया तो उसे भी पीट दिया गया। मारपीट के बीच ही वेद ने आसिफ को गोली मार दी, जिसके कारण उसकी मौके पर मौत हो गई। प्रदर्शन के दौरान घण्टो अफरा-तफरी का माहौल बना रहा। पुलिस फोर्स की तैनाती के बाद भी उपद्रवियों ने मौके का फायदा उठाया। उन्होंने पथराव और आगजनी की। इस दौरान पूरे इलाके में यातायात पूरी तरह से ठप हो गया था। जिलाधिकारी और एसएसपी के समझाने के बाद किसी तरह से मामला शांत हुआ। हलांकि इसके बाद भी पांच घंटे तक चैक इलाके में हालात ऐसे रहे मानो लखनऊ जल उठा। आसिफ की हत्या के बाद जहां लोग दुखी हैं। वहीं हंगामे और बवाल के बाद लोग सहमे भी हुए हैं। आलम यह है कि हमेशा गुलजार रहने वाला राजाबाजार की गलियां सन्नाटे में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }