मैसूर राजघराने को 400 सालों से चले आ रहे श्राप से अब जाकर इस तरह मिली मुक्ति

| ख़बरें अब तक खास खबरे राज्य
Mysore queen trishika kumara gives birth to boy a

400 सालों से चले आ रहे एक श्राप से मैसूर राजघराना को अब जाकर मुक्ति मिली है। पहली बार वाडियार राजवंश में किसी लड़के यानी राजवंश के उत्तराधिकारी का प्राकृतिक तरीके से जन्म हुआ है। मैसूर के 27वें राजा यदुवीर वाडियार की पत्नी तृषिका सिंह ने हाल ही में बेटे को जन्म दिया है। डॉक्टरों के मुताबिक, बच्चा और मां दोनों स्वस्थ है।

Mysore prince born

इससे पहले 400 सालों से इस राजवंश का स्वाभाविक व प्राकृतिक ढंग से विस्तार नहीं हो रहा था। अब तक इस राजघराने में किसी रानी ने भी बेटों को जन्म नहीं दिया है। यहां तक कि खुद यदुवीर वाडियार भी गोद लिए हुए हैं।

Mysore queen trishika kumara

400 साल से इस राजवंश में राजा दत्तक पुत्र ही बनता आ रहा है। राजा-रानी गोद लेकर ही अपना वारिस चुनते हैं। सबसे हैरान करने वाली बात तो ये कि पिछले 5 सदियों से यानि कि 1612 से इस राजवंश की किसी भी महारानी ने लड़के को कोख से जन्म नहीं दिया ।

mysore prince weeding

महारानी प्रमोदा देवी ने अपने पति श्रीकांतदत्त नरसिम्हराज वाडियार की बड़ी बहन के बेटे यदुवीर को गोद लेकर राजा घोषित किया था। राजा यदुवीर की शादी 27 जून 2016 को डूंगरपुर की राजकुमारी तृषिका से हुई थी।




दरअसल वॉडेयार राजघराने को लेकर एक किवदंती है कि इस राजघराने को 1612 में एक श्राप मिला था जिसके बाद उनके यहां कोई संतान नहीं हुई। उस समय मैसूर के राजा ने श्रीरंगपट्टना पर हमला किया था जिसके बाद वहां की रानी खुद को बचाते हुए भाग निकली। हालांकि, मैसूर के राजा ने खोज लिया लेकिन रानी ने नदी में कूद कर आत्महत्या कर ली। जान देने से पहले रानी ने श्राप दिया था कि मैसूर के राजा के यहां कोई संतान नहीं होगी। वाडियार राजवंश ने इस श्राप से मुक्ति के लिए कई प्रयास किए लेकिन कोई सफलता हाथ नहीं लगी और अब 400 साल बाद पुत्र के होने से राजघराने में उत्सव का माहौल है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }