रायबरेली में भीख मांग रहा शख्स निकला तमिलनाडु का करोड़पति, ऐसे खुला राज

| ख़बरें अब तक खास खबरे राज्य
begger found as millionaire

आम तौर पर शक्ल देख के आदमी की हैसियत का अंदाजा लगा लिया जाता है लेकिन रायबरेली में एक ऐसा मामला सामने आया जहां एक बुजुर्ग भिखारी तमिलनाडु का करोड़पति कारोबारी निकला, और उसकी पहचान का पता लगा आधार से । दरअसल इस आदमी को लोग भिखारी समझ कर नजरअंदाज कर रहे थे, इस बीच अनंगपुरम स्कूल के स्वामी भास्कर स्वरूप जी महराज इस बुजुर्ग को अपने आश्रम ले आए ।

यहां स्वामी के सेवकों ने बुजुर्ग को नहलाया और खाना खिलाया । इस दौरान बुजुर्ग के कपड़ों की तलाशी ली गई तो जेब से निकले कागजातों को देखकर सब चौंक गए । बुजुर्ग के जेब में आधार कार्ड के साथ, एक करोड़ छह लाख 92 हजार 731 रुपये के एफडी के कागजात मिले ।

आधार कार्ड से उसकी पहचान मुथैया नादर पुत्र सोलोमन के रूप में हुई। वह तमिलनाडु के तिरूनेलवेली का रहने वाला निकला, कागजातों मे उसके घर के फोन नंबर भी मिले । स्वामी ने जब नंबर पर संपर्क कर उसके घरवालों से बात की तो पता चला कि ये बुजुर्ग तमिलनाडु का करोड़पति कारोबारी है ।




सूचना मिलने पर उसके परिवारजन उसे लेने पहुंचे। परिजनों ने बताया कि जुलाई में एक ट्रेन यात्रा के दौरान वह भटक गए थे। तब से उनकी खोज की जा रही थी और आशंका जताई गई कि वह ट्रेनों में होने वाली जहरखुरानी की घटना का शिकार हो गए थे जिसके बाद से उनका मानसिक सतुंलन खो गया और वो भीख मांगने लगे । बुजुर्ग के परिजन हवाई जहाज से उसे अपने साथ घर ले गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }