मोदी के स्वच्छ भारत को मुंह चिढ़ाता लखनऊ का चारबाग रेलवे स्टेशन

| खबरे

लखनऊ न्यूज 30 ब्यूरो- एक शताब्दी पूरी कर चुका लखनऊ का चारबाग़ रेलवे स्टेशन आज भी बदहाली की मार झेल रहा है | एक तरफ जहाँ नवाबी शहर बदलता लखनऊ – संवरता लखनऊ के सपने के साथ मेट्रो के ट्रैक पर दौड़ने की तैयारी में है, वहीँ दूसरी तरफ लखनऊ का चारबाग रेलवे स्टेशन मोदी के स्वच्छ भारत अभियान को मुंह चिढ़ा रहा है। अखिलेश सरकार तो अपनी महत्वाकांक्षी योजनाओं से लखनऊ को हाईटेक बनाने में जुटी हुयी है लेकिन राजधानी का ऐतिहासिक चारबाग रेलवे स्टेशन अव्यवस्था और गन्दगी की बलि चढता जा रहा है।
चारबाग रेलवे स्टेशन से करीब 200 ट्रेनों का रोजाना आवागमन होता है और लाखों की संख्या में यात्री यात्रा करते है। ये टूटे-फूटे प्लेटफॉर्म, कूड़े-करकट के ढेर और अव्यवस्थाओ का जाल सपा सरकार की बदइंतजामी की सच्चाई तो उजागर करता ही है साथ  ही केंद्र सरकार की स्वच्छता अभियान का मखौल भी उड़ा रहा है |  लखनऊ के आस-पास के जिलों में रोजाना काम पर आने जाने वाले यात्रियों के साथ-साथ अन्य प्रदेशों में यात्रा करने वाले लोंगों को भी इन समस्याओं की मार झेलनी पड़ रही है। स्टेशन पर रखा कूड़ादान शो- पीस बना हुआ है और पान की पीक से रेलवे स्टेशन की दीवारें गन्दी हो रही है। अपनी ट्रेन तक पहुँचने के लिए वृद्धों और महिलाओं को प्लेटफार्म पर सुरक्षित चलने के लिए जगह ढूंढनी पड़ती है | त्योहारी मौसम आते ही जब स्टेशन में यात्रियों का हुजूम उमड़ता है तो स्थिति और भी ज्यादा बदतर हो जाती है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }