AUM – जानिए इसके स्वस्थ लाभ

| आपकी राशि
om-gold

हिंदू धर्म में ‘ओम’ शब्द बहुत ही पवित्र माना जाता है. यह केवल एक पवित्र ध्वनि ही नही बल्कि अनंत शांति का प्रतीक है. ‘ओम’ अर्थात ‘ओम’ तीन अक्षरो से बना है. ओम में ए का अर्थ है उत्पन्ना होना, यू का तत्परया है उठना या फिर उड़ना, म का मतल्ब है मौन हो जाना अर्थात ब्रामहालीन हो जाना. ओम संपूर्ण ब्रह्मांड की उत्पत्ति और पूरी श्रस्ती का घोतक है.

पुराणो मै कथा मिलती है की इसी शब्द से भगवान शिव, विष्णु और ब्रम्‍हा प्रकट हुए. इसलिए ओम को सभी मंत्रो का बीज मंत्र और धावनियो और शब्दो की जननी कहा जाता है.

aum

ओम धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष इन्न चारो पुरुषार्तो का प्रदयक है. मात्र ओम का जप कर कई साधको ने अपने उदेश्य की प्राप्ति कर ली है. गोपत ब्राह्मण ग्रंथ में उल्लेख है की जो कुश के आसान पर पूर्वा दिशा के तरफ मूह करके एक हज़ार बार ओम रूपी मंत्र का जाप करता है, उसके सब कार्य सिद्ध हो जाते है. ओम का जप करने से पाचन शक्ति सुधरती है.

यहा तक की ओम मंत्र के जाप से ह्रिद्य और मष्टिक रोग से गंभीर पीड़ित व्यक्तियो को भी बहुत लाभ मिलता है. तो आइए जानते है जानते ही कुछ हेल्त बेनिफिट्स ऑफ चानटिंग ओम और इसके उचराण की विधि.

aum (1)

ओम मंत्र से होने वेल शारीरिक फयडे
ओम मंत्र का जाप करने से शरीर मई स्फूर्ति आती है.
यदि आपको घबराहट होती है तो ओम के उचारण से उत्तम कुछ भी नही है.
यह हृदय(हार्ट) और खून के प्रवाह को संतुलित करता है.
इससे पेट से जुड़ी तकलीफ़ दूर होती है.
थकान से बचाव के लिए भी इसका उचारण बेहद लाभकारी है.
यह शरीर से विशेले तत्वो को दूर करता है, और तनाव के कारण पैदा होने वाले द्रव्यो पर नियंत्रण करता है.
पाचन शक्ति को बढ़ने के लिए इससे उत्तम उपाय कुछ भी नही है.
कुछ विशेष प्राणायाम के साथ इसे करने से फेफड़ो को मजबूती मिलती है.
यह शरीर की हॉर्मोनल प्रणाली को नियंत्रित करता है.
जिन लोगो को नींद ना आने की समस्या रहती है. उन्हे इस मंतरा का जाप ज़रूर करना चाहिए. कुछ ही दिन मै आपको परिवर्तन देखने को मिलेगा. रात को सोते समय नींद आने तक मन में इसको करने से निश्चित ही नींद आएगी.
ओम के पहले शब्द का उचारण करने से कंपन पैदा होती है. इस कंपन से रीढ़ की हड्डी प्रभावित होती है. और इसकी क्षमता बढ़ जाती है.
ओम के दूसरे शब्द का उचाराण करने से गले में कंपन पैदा होती है. जो की थिराइड ग्रंथि पर प्रभाव डालती है.
ओम मंत्र के जाप से आपकी आवाज़ में सुधार होता है. इसके अलावा बढ़ती उम्र में आपके वोकल कॉर्ड्स और मसल्स को शक्ति मिलती है. इस मंतरा का जाप आपके शरीर के पूरे विकास के लिए बेहद ही फयदेमंद है.

om-gold

ओम मंत्र से होने वेल मानसिक लाभ
नियमित तौर पर ओम मंत्र का जाप किया जाए तो व्यक्ति का टन-मन शुद्ध रहता है और मानसिक शांति मिलती है.
इससे डिप्रेशन जैसी समस्या से निजाद मिलता है. नियमित तौर से करने पर व्यक्ति में साहस और लक्ष्य प्राप्ति का उत्साह बढ़ जाता है.
जीवन जीने की शक्ति और दुनिया की चुनोतियो का सामना करने का साहस मिलता है.
आत्महत्या करने जैसे कायरता के विचार आसपास भी नही फटकते. बल्कि जो आत्महत्या करना चाहते है वो एक बार ओम के उचारण का अभ्यास 4 दिन तक कर ले. उसके बाद खुद निर्णय करले की जीवन जीने के लिए है या फिर छोड़ने के लिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }