सोमवती अमावस्या- इन कामों को करने से दूर होंगी परेशानियां, आएगा धन

| ख़बरें अब तक धर्म
Somvati amavasya benifts of pooja

आज देश भर में सोमवती अमावस्या मनाई जा रही है । सोमवती अमावस्या का हिंदू धर्म में विशेष महत्व है।इस दिन गंगा स्नान और दान आदि करने का विधान है। इस बार यह अमावस्या 18 दिसंबर, सोमवार को है। आज की अमावस्या तिथि खास फलदाई है। आज के दिन किए गए दान, पूजा-पाठ और उपाय करने से अक्षय पुण्यों की प्राप्ति होती है।

शास्त्रों के अनुसार सोमवार के दिन पड़ने वाली अमावस्या को सोमवती अमावस्या कहते हैं। सनातन धर्म में सोमवती अमावस्याु का विशेष महत्वन है क्योंकि सोमवार और अमावस्या का योग अत्यंत दुर्लभ है। सोमवती अमावस्याम साल में लगभग एक ही बार पड़ती है। शास्त्रों में इसे अश्वत्थ अर्थात पीपल प्रदक्षिणा व्रत की भी संज्ञा दी गई है। सोमवार के दिन सफेद कपड़े पहनने से और शिवलिंग पर सफेद फूल चढ़ाने से मनोकामनायें पूरी होती है। इस दिन अमावस या पूर्णिमा पड़ना बहुत शुभ माना जाता है।




सोमवती अमावस्या के दिन आप अपने इष्ट देव और पितरों का आशीर्वाद लें। ऐसा करने से हमेशा आपके घर में सुख-समृद्धि बनी रहेगी। सोमवती अमावस्या पर पितरों के लिए तर्पण और कर्मकांड के साथ ही स्नान और यज्ञ का भी विशेष महत्व है। मान्यता है कि पितरों को जल देने से उन्हें तृप्ति मिलती है।

इस दिन पीपल के पूजन से सौभाग्य की वृद्धि होती है। औरते इस दिन पीपल के पेड़ को शिवजी का वास मानकर दूध, जल, फूल, अक्षत, चन्दन से पूजा करती हैं और उनके चारों ओर कच्चा धागा लपेट कर परिक्रमा करती हैं। इसके साथ ही इस दिन तुलसी परिक्रमा करने का विधान है। सोमवती अमावस्या के दिन 108 बार तुलसी की परिक्रमा करें और सूर्य को जल चढ़ाएं। ऐसा करने से घर में आई दरिद्रता दूर होती है।



भगवान सूर्य नारायण को तांबे के पात्र में गंगा जल और लाल चंदन डालकर ओ पितृभ्य नमः मंत्र का उच्चारण करते हुए अर्घ्य दें। इस उपाय से पितर प्रसन्न होते हैं और घर में खुशहाली का वास होता है।शाम को हनुमान मंदिर जाकर तेल का चौमुखा दीपक लगाकर लड्डूओं का भोग लगाएं और हनुमान चालीसा का पाठ करें। शिव जी के मंदिर में गाय के शुद्ध घी का दीपक लगाकर ऊँ नम: शिवाय मंत्र का जाप करें, आर्थिक पक्ष में आने वाली बाधाएं दूर होंगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }