गरीबों से ज़्यादा गरीब हैं लखनऊ के रैनबसेरे

| विशेष
IMG_20151123_190938966

लखनऊ न्यूज 30 ब्यूरो- ठंड शुरू होते ही गरीब लखनऊ वासियों की मुश्किलें भी बढ़ती नज़र आ रही हैं. पूरे दिन की मशक्कत के बाद जब एक इंसान को सुकून की नींद भी ना मिले, तो इसे ज़्यादती नहीं तो और क्या कहेंगे।कुछ इतने ही बदहाल है लखनऊ में नगर निगम द्वारा निर्मित रैन बसेरे. कहने को तो यह गरीबों के लिए ठंड से बचने का एक सहारा है, लेकिन यहाँ के हालात कुछ और ही नज़ारा बयां कर रहे हैं. बनाए तो गये थे ये रात बिताने के लिए, लेकिन यहाँ पर फैली गंदगी और चौबीसों घंटे रहने वाली दुर्गंध के कारण यहाँ एक भी पल बिताना मुश्किल है।बात अगर करें चारबाग की तो शायद सबसे ज़्यादा तादाद में लोग इसी रैन बसेरे में पनाह लेने आते हैं. पर यहाँ पर अव्यवस्था इतनी अधिक है कि साफ सफाई जैसे ज़रूरी कार्यों की पूर्ति भी नहीं हो पा रही है. वहीं दूसरी ओर ऐशबाग में बना गृह गरीबों को सहारा देने के बजाय खुद ही रात के अंधेरे में कही खो जाता है।इन बदहाल रैन बसेरों को देखकर तो यही लगता है कि चुनाव के समय पर सभी पार्टियाँ गरीबों की  मजबूरी पर अपनी राजनीतिक रोटियाँ सेकने लगती हैं. अपने आप को समाजवादी नेता कहने वाले समाज के लिए बने मैले और दूषित रैन बसेरों में क्या एक पल भी बिताना पसंद करेंगे ?

IMG_20151123_190856762 IMG_20151123_190527545IMG_20151123_190454541

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }