पंचायत चुनाव के नतीजों से मायावती का हौसला बढा ,सत्ता वापसी की रणनीति शुरू

| विशेष
mayawati-kh0H--621x414@LiveMint
मिशन 2017 के लिए लखनऊ में बीएसपी की अहम बैठक ,एक्शन में दिखी बीएसपी सुप्रीमो मायावती । उत्तर प्रदेश में हुए पंचायत चुनाव के बेहतर नतीजों से उत्साहित बीएसपी की लखनऊ में एक बड़ी बैठक हुई। बैठक बीएसपी सुप्रीमों मायावती के आवास पर हुई..इस बैठक में उत्तर-प्रदेश , उत्तराखंड के यूनिट जोन और जिला स्तर के सभी पदाधिकारियों को बुलाया गया था..बैठक में पंचायत चुनाव में जीत से लेकर 2017 के विधान सभा चुनाव पर चर्चा हुई..बीएसपी सुप्रीमों ने ये भी कहा कि अगर बीजेपी बिहार में जीत जाती है तो इससे बिहार का बड़ा नुकसान होगा।
बीएसपी सुप्रीमों मायावती के आवास पर हुई बैठक में..पंचायत चुनावो के नतीजो पर चर्चा के साथ ही मायावती  ने पार्टी के उत्तर प्रदेश व उत्तराखण्ड राज्य यूनिट ज़ोन व जि़ला स्तर के सभी वरिष्ठ व जि़म्मेवार पदाधिकारियों विधयाको ,घोसित प्रत्यासियो और पार्टी कोआर्डिनेटरों की बैठक ली……बैठक में उत्तर प्रदेश में अभी-अभी सम्पन्न हुये पंचायत चुनाव का जि़क्र करते हुये मायावती ने कहा कि हालांकि इस चुनाव के कारण पार्टी संगठन की तैयारी का काम काफी हद तक विलम्ब हुआ है, परन्तु बी.एस.पी. ने पंचायत चुनाव में काफी अच्छा रिज़ल्ट दिखाया है और अगर जिला पंचायत के अध्यक्ष के चुनाव में सत्ताधारी एसपी ने पहले की ही तरह चुनावी धांधली व सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग से प्रभावित नहीं किया तो फिर बी.एस.पी. के लोग उस चुनाव में भी काफी संख्या में अवश्य जीत हासिल करेंगे।  साथ ही संगठन को जमीनी स्तर पर मज़बूत करने पर भी जोर दिया।
बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कहा है कि बिहार की जनता किसी कारणवश पिछले लोकसभा आमचुनाव की तरह ही अगर बीजेपी और ख़ासकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा इस्तेमाल किये हथकण्डों के बहकावे में आकर अगर गुमराह हो जाती है तो इससे एन.डी.ए. गठबन्धन को तो लाभ होगा, परन्तु इससे बिहार को काफी नुक़सान होगा व वहाँ का विकास ख़ासतौर पर प्रभावित होगा। लोकसभा चुनाव में किये गये वायदों की तरह ही नरेन्द्र मोदी का विकास आदि का दावा धरा-का-धरा रह जायेगा। देश की तरह ही बिहार में भी तनाव व अफरा-तफरी का ख़राब माहौल छा जाने की भी आशंका है। ऐसी स्थिति यूपी में ना हो लिहाजा कार्यकर्ता अभी से तैयारियों में जुट जाय..बीएसपी सुप्रीमों ने कहा कि इन चुनावों के बावजूद परमपूज्य बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर के ’’परिनिर्वाण दिवस’’ पर हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी लखनऊ में ’’डा. भीमराव अम्बेडकर सामाजिक परिवर्तन स्थल, गोमतीनगर’’ में होने वाला प्रदेश-स्तरीय कार्यक्रम लोगों के भागेदारी के हिसाब से काफी सफल होना चाहिये। इस सम्बन्ध में उन्होंने कुछ आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिये। पार्टी पदाधिकारियों को चेताते हुए मायावती ने कहा कि दोनों राज्यों में विधानसभा के आमचुनाव होने का समय बहुत कम रह गया है और यह चुनाव होने तक यहाँ की जनता को गुमराह करने के लिये विरोधी पार्टियों द्वारा अपने पक्ष में हवा बनाने हेतु किस्म-किस्म के घिनौने हथकण्डे भी इस्तेमाल किये जायेंगे, जिनसे बी.एस.पी. के लोगों को अभी से ही सावधान रहना बहुत जरूरी है और इस मामले में खासकर बीजेपी एण्ड कम्पनी के लोगों के साम्प्रदायिक एजेण्डे से जरूर सावधान रहने की तरफ भी काफी जोर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }