यूपी कांग्रेस संगठन और कार्यकर्ताओं में सुस्ती है: रीता बहुगुणा

| विशेष
RITA-BAHUGUNA-JOSHI

क्या कांग्रेस ने यूपी में 2017 के लिए तैयारी शुरू कर दी है और यूपी में कांग्रेस की सबसे बड़ी कमजोरी क्या नेताओं में आपसी कलह है?

रीता जी- यूपी विधानसभा के लिए हमने तैयारी करना शुरू कर दिया है। हम हर मुद्दे पर धरना प्रदर्शन कर रहे है। वैसे हर पार्टी में मतभेद होता है और हमारी पार्टी में ऐसा नही है। खत्री जी के नेतृत्व में हम यूपी में अच्छा चुनाव लड़ेंगे। 30 साल हो गए हमे यूपी की सत्ता से बाहर हुए और इतने सालो से ऐसा माहौल बन गया है कि जो विपक्ष में है उसका काम नही होता है। जिसकी वजह से हमारे कार्यकर्त्ता कम हो गए । मेरा मानना है कि थोडा सुस्ती हमारे जिला व शहर स्तर पर संगठन में है क्योंकि लंबे अरसे  से सत्ता से बाहर होने की वजह से स्फूर्ति कम हो गयी है।

मोदी और अखिलेश सरकार में आप किसे बेहतर मानती है?
रीता जी- मुझे लगता है कि अखिलेश और मोदी दोनों असफल है क्योंकि केंद्र में मोदी सरकार ने महंगाई बढ़ा राखी है तो राज्य में सपा सरकार ने कानून व्यवस्था की धज्जियाँ उडा रखी है। बिहार चुनाव में 24 रैलियां प्रधानमंत्री ने की अगर इन्होंने अच्छा काम किया होता तो इतनी रैली करने की जरुरत ही नही पड़ती। कांग्रेस और सपा धर्मनिरपेक्षता के मुद्दे पर एक समान है।

सपा,बसपा और बीजेपी में किससे कांग्रेस की टक्कर मानती है और क्यों?

रीता जी- वैसे तो हमारी टक्कर किसी से नही है लेकिन यूपी में 4 कार्नर कांटेस्ट होगा। चुनाव में हमारी स्ट्रेटजी रहेगी कि हम अच्छे प्रत्याशी को चुनाव में उतारेंगे।

यूपी चुनाव में आपके क्या मुद्दे होंगे?

रीता जी- हम जनता को बताएँगे कि एनडीए ने यूपीए की सभी योजनाएं ठप कर दी। यूपीए के कार्यकाल में हमने अच्छा कार्य किया लेकिन अफवाहें फैलाकर हमे बदनाम किया गया। एनडीए सरकार ने चुनाव पूर्व काले धन के वापसी की बात की लेकिन कुछ भी वापस नही आया।

साहित्यकारों द्वारा पुरस्कार वापसी को आप कितना सही मानती है?

रीता जी- एनडीए सरकार देश को बांटने की राजनीति महिलाओं , दलितों और गौमांस जैसे मुद्दे पर विवादित और अमर्यादित बयान देकर अपनी कमजोरियों को छुपा कर सुर्खियों में बना रहना चाहती है और मोदी जी इन सभी मुद्दों पर शांत है। अगर मोदी जी इतने ही बड़े विश्वनेता है तो अपने मंत्रियों की जुबान पर लगाम क्यों नही लगाते है? देश में असहिष्णुता का वातावरण नियोजित व संगठित रूप से भाजपा ने बना रखा है।

पंचायत चुनाव के परिणामो को किस नजरिये से देखती है?

रीता जी- बसपा के परिणाम अच्छे आये है तो इसका मतलब जनता मौजूदा सपा सरकार के कार्यों से संतुष्ट नही है। हम लोगों ने 20 साल बाद पंचायती चुनाव में भाग लिया इसके बावजूद बेहतर परिणाम निकल कर सामने आये।बसपा और् सपा के पास तो अथाह धन है लेकिन हमारे पास धन की कमी होने के बावजूद हम चुनावी मैदान पर उतरे और बेहतर प्रदर्शन किया।

एक महिला होने के नाते यूपी में महिलाओं की स्थिति पर क्या कहना है?

रीता जी- यूपी की सपा सरकार मे महिलाएं प्राथमिक एजेंडे में ही नही है। 1090 का कोई असर दिख नही रहा है। मलिन बस्तियों और पिछड़े इलाकों की उपेक्षा हो रही है। मैं पूरी तरह से असंतुष्ट हूँ

बीफ के मुद्दे पर आपका क्या कहना है?
रीताजी- देश का कानून सबके लिए समान होना चाहिए और कानून की दृष्टि से जिस पर भी प्रतिबन्ध है उस पर सख्त कार्यवाही होनी चाहिए। उचित कानून बनाकर दोषियों को सजा मिलनी चाहिए और यदि कानून नही बना सकते है तो लोगों को उनकी मर्जी से जीने दे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }