यूपी में दलित कार्ड के सहारे ही बीजेपी की होगी जीत-कौशल किशोर

| विशेष
bjp-logo_52

लखनऊ न्यूज 30 ब्यरो– इस समय आईएसआईएस की धमकी से चर्चा में आये बीजेपी सासंद कौशल किशोर का कहना है कि जो भी लोग आईएसआईएस के संर्पक में हैं या उनके लिए काम कर रहे है। ये बड़ा ही गलत है।और जो आईएसआईएस की नीतियां है वो न उनकी भलाई के लिए है और नहीं जनता की। जिसने मुझे धमकी दी थी वो हिन्दू है और मुझे लगता है की इसका कुछ लोग दुरुपयोग भी कर रहे है। कौशल किशोर का कहना है कि आईएसआईएस और आतंकवाद के खिलाफ हमने  आंदोलन करने की बात की है। क्योंकि अब इसका  विरोध तो करना ही पड़ेगा। जब तक जनता इन गलत कामों के खिलाफ एकजुट नही होगी तब तक ये गतिविधियाँ नही रुकेंगी।आजम खान के मुद्दे पर कौशल किशोर का कहना है कि आजम खान अपने बड़बोलेपन के कारण चर्चा में रहते है। वो ग़लतफ़हमी के शिकार है और चुनाव में गलत बयानबाजी की वजह से बीजेपी  चुनाव हारी। आजम खाँ सपा सरकार में मुख्यमंत्री बनना चाहते थे जो वो नही बन सके इसी वजह से वो ऐसी भाषा बोलते हैं ।

बिहार में बिजेपी की हार पर कौशल किशोर का मानना है कि बिहार में चुनाव मोदी बनाम नितीश बन गया था जिसकी वजह से हम चुनाव हार गए लेकिन यूपी विधानसभा चुनाव में ऐसा नही होगा हम पिछड़े और दलित वर्ग के लोगों को जोड़ने और आगे बढ़ाने का काम कर रहे है। बीजेपी ऐसा कर सकती है और करना भी चाहिए अगर यूपी में चुनाव को सपा बनाम बसपा करने से रोकना है और यदि सपा बनाम बीजेपी करना है तो भाजपा को दलित चेहरे को अध्यक्ष या मुख्यमंत्री के रूप में प्रोजेक्ट करना होगा। इससे जो दलित वर्ग मायावती के साथ जुड़ा है वह बीजेपी के साथ आ जायेगा क्योंकि दलित वर्ग मायावती से संतुष्ट नही है। कोई और चेहरा न होने के कारण दलित वर्ग मायावती से जुड़ा है।

 बीजेपी सासंद का कहना है कि बीजेपी का लक्ष्य है यूपी में अपनी सरकार बनाना और हमने बसपा से पूर्व में गठबंधन किया था। मायावती मुख्यमंत्री बनी थी और तब से बीजेपी यूपी में हारती चली गयी। मायावती अवसरवादी है वह बीजेपी की खिलाफत भी करती रही है और समर्थन भी लेती है। यूपी में बीजेपी बिना किसी गठबंधन के अपनी सरकार बनाना चाहती है। हम अपनी ही पार्टी से दलित चेहरे को सामने लाकर बेहतर तरीके से चुनाव लड़ेंगे। सपा सरकार में कुछ चाटुकार लोगो के कारण दलित वर्ग समाप्त हो चूका है। आरक्षण में पदवनति होने के कारण अधिकारी व कर्मचारी वर्ग बसपा से असन्तुष्ट है। इस कारण आने वाले चुनाव में बीजेपी दलित एजेंडे को केंद्र में रख कर अगर चुनाव लड़ती है तो बीजेपी की जीत तय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please enter the Text *







'); var MainContentW = 1070; var LeftBannerW = 120; var RightBannerW = 160; var LeftAdjust = 10; var RightAdjust = 10; var TopAdjust = 80; ShowAdDiv(); window.onresize=ShowAdDiv; }